थायराइड कंट्रोल करना चाहते हैं? आज से ही खाना शुरु कर दें ये 5 सुपरफूड,


थायराइड हार्ट रेट समेत शरीर के फंक्शन को सामान्य रखने का काम करता है। वहीं, जब इसमें असंतुलन की स्थिति पैदा होती है, तो हार्ट रेट को बढ़ा देती है। 

यह ग्रंथि सही तरह से अपना काम करें इसके लिए शरीर को आयरन, मैग्नीशियम, आयोडिन, जिंक, विटामिन-B,C,D और सेलेनियम की आवश्यकता होती है। इसे आप संतुलित आहार से प्राप्त कर सकते हैं।

थायराइड रोग पर विभिन्न अध्ययनों से एक अनुमान के अनुसार भारत में लगभग 42 मिलियन लोग थायराइड के रोग से पीड़ित हैं। 

TSH की नॉर्मल रेंज 0.4 -4.0 mIU/L के बीच होती है। अगर इसका लेवल 2.0 से ज्यादा है, तो हाइपोथायरॉडिज्म और स्तर कम होने पर हाइपरथायरायडिज्म कहा जाता है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार ने थायराइड की बीमारी से ग्रसित लोगों के लिए कुछ आहारों की जानकारी शेयर की है। वह बताती हैं कि यह यह आहार किसी सुपरफूड से कम नहीं है। 

थाइराइड में असंतुलन का शरीर पर क्या दिखता है असर - वजन का बढ़ना-घटना, गले में सूजन, मूड स्विंग होना, बाल झड़ना, कमज़ोरी, चिड़चिड़ापन, नींद ना आना, गुस्सा आना, स्किन ड्राई होना,ठंड लगना, डिप्रेशन

आंवला - आंवला में संतरे से 8 गुना और अनार से करीब 17 गुना ज्यादा विटामिन सी होता है। यह बालों के लिए सिद्ध टॉनिक है। 

ब्राजील सुपारी - सेलेनियम एक सूक्ष्म पोषक तत्व है जो शरीर में थायराइड हार्मोन के चयापचय के लिए आवश्यक है। T4 से T3 के रूपांतरण के लिए सेलेनियम की आवश्यकता होती है

Your Page!

Click Here